Religious

Mahashivratri 2023 महाशिवरात्रि पूजा कब है महाशिवरात्रि क्यों मनाई जाती है

जाने महाशिवरात्रि 2023 में कब है शिव के भक्तों के लिए महाशिवरात्रि बेहद पावन उत्सव का दिन माना जाता है जाने इसका शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

महाशिवरात्रि का पर्व माघ मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि के दिन मनाया जाता है. महादेव के भक्त हर साल इस दिन का बेसब्री से इंतजार करते हैं. महाशिवरात्रि भगवान शिव के भक्तों के लिए बेहद पावन उत्सव का दिन है. 2023 में महाशिवरात्रि कब है. शुभ मुहूर्त क्या है? क्यों मनाई जाती महाशिवरात्रि है. आइए जानते हैं. ऐसे में भगवान शिव के भक्तों में जानने की इच्छा होती है

Mahashivratri Pooja Date in 2023

ऐसी मान्यता है की कि इस तिथि पर भगवन महादेव ने इस दिन वैराग्य जीवन छोड़कर गृहस्थ जीवन में प्रवेश किया था. साल 2023 में हिंदू पंचांग के अनुसार 18 फरवरी शनिवार को महाशिवरात्रि का त्योहार मनाया जाएगा.

महाशिवरात्रि की पूजा का शुभ मुहूर्त

मध्यरात्रि में महाशिवरात्रि की पूजा करना सबसे शुभ माना जाता है. 18 फरवरी 2023 यानी रविवार मध्यरात्रि में 12 बजकर 15 मिनिट से 01 बजकर 06 मिनट तक पूजा का शुभ मुहूर्त है.

महाशिवरात्रि क्यों मनाई जाती है

पौराणिक कथाओं के मुताबिक, महाशिवरात्रि के दिन शिवजी पहली बार प्रकट हुए थे. और महा शिवरात्रि के दिन शिव और शक्ति का मिलन हुआ था. महाशिवरात्रि की पूरी रात महादेव के भक्त अपने आराध्य की पूजा के लिए जागरण करते हैं. शिवभक्त इस दिन शिवजी की शादी का उत्सव मनाते हैं. मान्यता है कि महाशिवरात्रि के दिन शिव जी के साथ शक्ति की शादी हुई थी. माना जाता है कि महाशिवरात्रि के दिन ही शिवलिंग 64 अलग अलग जगहों पर प्रकट हुए थे. उनमें से हमें केवल 12 जगह का नाम पता है. इन्हें हम 12 ज्योतिर्लिंग के नाम से जानते हैं,

महाशिवरात्रि के दिन शिव पूजा का मंत्र

महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव शंकर की पूजा करते समय इस मंत्र का उच्चारण अवश्य करें. ॐ नमः शिवाय का जाप 108 बार करें, रात्रि के चारों प्रहर में शिवजी की पूजा करनी चाहिए।