News

समोसा नहीं खिलाने पर दोस्तों से चल रही थी अदावत, मौका पाते ही 10वीं के छात्र को किया अगवा, दो गिरफ्तार

[ad_1]

गोपालगंज. बिहार का गोपालगंज जिला हमेशा अपनी कारस्तानी को लेकर सुर्खियों में रहता है. कभी मछली के मुड़ा के लिए खूनी झड़प, तो कभी मुर्गे की मौत का बदला लेने के लिए बमबाजी, तो कभी लिट्टी और मीट खाने के लिए गोलीबारी और हत्या होती है, लेकिन आज एक महज एक समोसा के लिए सीबीएसइ के 10वीं छात्र का अपहरण कर लिया गया. घटना नगर थाना क्षेत्र के बंजारी मोड़ के पास की है.

अपहरण की खबर मिलते ही पुलिस अलर्ट हुई. ताबड़तोड़ छापेमारी शुरू कर दी. पुलिस की दबिश को देख अपहर्ता बसडीला चंवर में छात्र को छोड़कर अपहर्ता फरार हो गए, लेकिन पुलिस ने छापेमारी कर दो लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है. बरामद परीक्षार्थी कुचायकोट प्रखंड प्रमुख बबली सिंह के भतीजा व संजय सिंह के पुत्र पंकज कुमार है. पंकज से पूछताछ कर पुलिस कार्रवाई में जुटी है. पंकज ने पुलिस को बताया कि उसके साथी जो बिहार विकास विद्यालय में सीनियर थे. पिछले कुछ दिनों से समोसा खिलाने के लिए टॉर्चर कर रहे थे. जब समोसा खिलाने से मना कर दिया तो प्लानिंग कर आठ-नौ लड़कों ने मिलकर अपहरण कर एक घर में ले जाकर पीट रहे थे.

शोर मचाने पर स्थानीय लोग और पुलिस पहुंची. पुलिस के पहुंचने की सूचना पर सभी छोड़कर भाग निकले. घायल छात्र को इलाज सदर अस्पताल में कराया गया है. गोपालपुर थाना क्षेत्र के रतनपुरा गांव के रहने वाले कुचायकोट के प्रखंड प्रमुख बबली सिंह के पति अखिलेश्वर सिंह के भाई संजय सिंह का सरेया वार्ड नं एक में मकान है. जहां उनका परिवार रहता है. उनका पुत्र पंकज कुमार बिहार विकास विद्यालय में पढ़ता है. केंद्रीय विद्यालय गोपालगंज में परीक्षा देकर दिन के एक बजे निकला था. स्कूल से ही मनबढ़ दोस्त पीछे लगे थे. जैसे वह अपने घर के सामने बुलेट बाइक एजेंसी के पास पहुंचा कि साथियों ने बाइक से घेर कर उठाकर बैठा लिया. बगल के लोग देख इसकी सूचना उसके घर वालों को भी दिया. कुछ लोग पीछे लग गये.

आपके शहर से (गोपालगंज)

कुचायकोट प्रखंड प्रमुख के पति अखिलेश्वर सिंह डीएम डॉ नवल किशोर चौधरी से मिलने उनके चैंबर में थे. तभी भतीजा को उठाकर ले जाने की खबर मिली. प्रमुख पति ने डीएम को बताया तो वे एक्शन में आ गये. उसके बाद एसपी स्वर्ण प्रभात ने गंभीरता से लेते हुए कार्रवाई में जुट गये. नगर थानाध्यक्ष ललन कुमार, डॉ मनोज कुमार की टीम छात्र को बरामद करने के लिए छापेमारी शुरू कर दी. इतने में छात्र के मिलने की खबर मिली. पुलिस महकमा 40 मिनट तक बेचैन रहा. छात्र के बताने के अनुरूप दो किशोरों को हिरासत में लेकर छापेमारी की जा रही. जबकि कांड में शामिल बच्चे फरार है. उनकी तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही.

Tags: Bihar News, Crime News, Gopalganj news

[ad_2]

Source link