Lifestyle

Street Food: महासमुंद में गुप्ता जी की लस्सी है बेहद खास, कोलकाता से लेकर भुवनेश्वर तक दीवाने

[ad_1]

रामकुमार नायक

महासमुंद. छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिला मुख्यालय से लगभग 110 किलोमीटर दूर नेशनल हाइवे पर बसे सिंघनपुर गांव के चौक पर काफी हलचल रहती है. इस गांव के चौक पर शुभम होटल है. यहां की कहानी निराली है. शुभम होटल में गुप्ता जी की लस्सी काफी मशहूर है. इनकी लस्सी की ठंडक और जायका आपके तन और मन को ठंडा कर देगा.

लोग कहते हैं कि सर्दी हो या गर्मी, यहां लस्सी पीने वाले कम नहीं होते. दरअसल यह लस्सी नहीं है, एक तरह से नाश्ता है. इसमें इतनी सामाग्री डाली जाती है कि वो नाश्ते की भरपाई कर देता है. गर्मी के मौसम में खास तौर पर गुप्ता जी की लस्सी पूरे महासमुंद जिले में डिमांड बढ़ जाती है. दुकान के सामने ही बैठने की व्यवस्था है. चौराहा होने के अलावा लस्सी की बेहतरीन क्वॉलिटी होने के कारण यहां लोगों की काफी भीड़ रहती है. जैसे ही यहां आप स्पेशल लस्सी का ऑर्डर देंगे गाढ़ी व ताजा दही से बनी लस्सी में काजू, किसमिस, चेरी, नारियल का बुरादा, कतरी डाल कर यह पेश की जाती है.

इस लस्सी में किसी प्रकार का पानी या बर्फ नहीं मिलाया जाता है. खालिस दही से लस्सी तैयार किया जाता है और इसे ठंडा करने के लिये फ्रिज में रखा जाता है. गुप्ता जी की यह स्पेशल लस्सी 30 रुपये की आती है. लस्सी बिकने का आलम यह है कि थोड़ी-थोड़ी देर में बड़ी-बड़ी गाड़ियां दुकान के सामने आकर रुकती हैं और उसमें बैठे लोग लस्सी का जायका लेते हैं. साथ ही, लस्सी पार्सल लेकर भी जाते हैं.

शुभम होटल वर्ष 1975 से संचालित होती आ रही है. लेकिन, पिछले 10 वर्षों से यहां लस्सी बनाने का काम दुकान के मालिक राजेन्द्र गुप्ता कर रहे हैं. अब इस दुकान की कमान उनके बेटे शुभम गुप्ता ने संभाली है. दोनों पिता-पुत्र के द्वारा बनाये लस्सी को पीने के बाद ग्राहकों के मुंह से वाह-वाह निकलती है. शुभम होटल में गुप्ता जी की लस्सी प्रतिदिन सुबह आठ बजे से मिलना शुरू हो जाती है. रात नौ बजे तक इसका स्वाद लिया जा सकता है.

Tags: Chhattisgarh news, Mahasamund News, Street Food

[ad_2]

Source link