Lifestyle

Kulthi pulses reduce piles pain removes kidney stone through urine cure hemorrhoids lower blood sugar

[ad_1]

हाइलाइट्स

कुलथी की दाल में मौजूद फेनोलिक एसिड किडनी में कैल्शियम से बने छोटे-छोटे टुकड़े को गलाने में काफी मददगार है.
अगर कुलथी की दाल का सेवन किया जाए तो पाइल्स में होने वाला दर्द होगा ही नहीं.

Kulthi dal cure Piles and removes kidney stone: वैसे तो दाल गरीबों के लिए दूध का काम करती है लेकिन कुलथी की दाल बेहद ताकतवर पौष्टिक पदार्थ है. कुल्थी की दाल में पोषक तत्वों का खजाना छुपा है. आयुर्वेद के मुताबिक कुल्थी की दाल से पाइल्स, अल्सर, अनियमित पीरियड्स, सर्दी, बुखार, किडनी स्टोन आदि का भी इलाज किया जा सकता है. कुलथी की दाल से कोलेस्ट्रॉल भी कम होता है. कुलथी की दाल में भरपूर मात्रा में फाइबर पाया जाता है जो पाचन शक्ति की मजबूत करता है. इसमें मौजूद डाइट्री फाइबर पेट में स्टूल कंटेंट को हल्का कर देता है जिसके कारण पाइल्स के मरीजों को बहुत सहूलियत होता है. इसके कारण बवासीर होने पर भी दर्द नहीं होता है.

कुलथी की दाल में प्रोटीन का खजाना होता है. सौ ग्राम कुलथी की दाल में 22 ग्राम प्रोटीन पाया जाता है. इसके अलावा अन्य कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं. इसलिए इससे कुपोषण को दूर किया जा सकता है. टीओआई की खबर के मुताबिक कुलथी की दाल में पर्याप्त मात्रा में फाइबर होता है जो मेटाबोलिज्म को बूस्ट करता है. मेटाबोलिज्म के बूस्ट होने से यह मोटापे पर भी लगाम लगाता है. इसलिए यह डाइजेस्टिव सिस्टम को भी मजबूत बनाता है.

किस तरह है पाइल्स में रामबाण
फैशनलेडी हेल्थ वेबसाइट के मुताबिक जब मलद्वार की नसों में सूजन आ जाती है तब पाइल्स या बवासीर होता है. यह बहुत पेनफुल होता है. स्टूल पास करने के दौरान जब जोर लगाना पड़ता है तो दर्द काफी बढ़ जाता है. कब्ज की समस्या इस बीमारी को और बढ़ा देती है. ज्यादा दर्द होने पर लोग दर्द से राहत पाने के लिए दवाई लेते हैं लेकिन अगर कुलथी की दाल का सेवन किया जाए तो पाइल्स में होने वाला दर्द होगा ही नहीं. अगर पाइल्स के दर्द से आराम पाना है तो तो रात भर कुलथी की दाल को पानी में भिगने के लिए छोड़ दैं और सुबह उठकर इसका पानी पीएं. सुबह आते ही पाइल्स के दर्द से राहत मिल जाएगा.



किडनी स्टोन को गलाने में मददगार

कुलथी की दाल में फेनोलिक एसिड और फ्लैवोनॉएड्स मौजूद होता है. पबमेड जर्नल के मुताबिक कुलथी की दाल में मौजूद फेनोलिक एसिड किडनी में कैलकुलाई यानी कैल्शियम से बने छोटे-छोटे दानेदार टुकड़े को गलाने में काफी मददगार है. यह गॉल ब्लॉडर में जमे किडनी स्टोन को भी खत्म कर देती है. इसके साथ ही कुलथी की दाल यूरिक एसिड को भी कम करने की क्षमता है. कुल्थी की दाल ब्लड शुगर को भी कम करती है. वहीं महिलाओं में पीरियड्स से संबंधित पीसीओडी की बीमारी पर भी लगाम लगाती है. कुल्थी की दाल से अनियमित पीरियड को सही किया जा सकता है.

इसे भी पढ़ें-क्या खिड़की से आ रही धूप दूर कर सकती है विटामिन-D की कमी? डॉक्टर प्रियंका से जानिए सच्चाई

इसे भी पढ़ें-ये 5 संकेत बताते हैं ओरल कैंसर की हो चुकी शुरुआत, गंगाराम के डॉक्टर से जानें कैसे इस घातक बीमारी से बचें

Tags: Health, Health tips, Kidney, Lifestyle

[ad_2]

Source link