LifestyleTourist Place

How to reach Lakshadweep: लक्षद्वीप घूमने कैसे जाये

अगर आप लक्ष्यदीप घूमने का प्लान बना रहे है तो उसके लिए आपको परमिट लेनी पड़ेगी | परमिट उन सभी को लेना पड़ता है जो उस द्वीप का निवासी नहीं है वहां के रहने वालो के लिए कोई परमिट नहीं लगता है

लक्षद्वीप भारत के केंद्र शासित प्रदेशों में से एक है लक्षद्वीप 35 द्वीपों का एक समूह है। यह पश्चिम में अरब सागर और पूर्व में लक्षद्वीप सागर के लिए यह समुद्री सीमा के तौर पर काम करता है। यहाँ पर कुछ ही द्वीपों पर आबादी है और कुछ द्वीपों पर लोग नहीं रहते है पर्यटक भी सिर्फ सीमित द्वीपों तक ही जाने के लिए परमिट हासिल कर सकते हैं।

लक्षद्वीप घूमने के लिए कैसे अप्लाई करे How To Apply for Lakshadweep

आप लक्षद्वीप घूमने के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते है और ऑफलाइन भी कर सकते है लक्षद्वीप टूरिज्म की आधिकारिक वेबसाइट है जहाँ से आप ऑनलाइन अप्लाई कर सकते है लक्षद्वीप आधिकारिक वेबसाइट (http://epermit.utl.gov.in) है वह पैर जरुरी दस्तावेज अपलोड करना होगा और जरुरी जानकारी दर्ज़ करनी होगी साथ ही फीस का भुगतान करने के बाद आपकी यात्रा के 15 दिन पहले परमिट ई-मेल के जरिए आपको मिल सकता है।

अगर इसे ऑफलाइन हासिल करना चाहते हैं, तो कवरत्ती में कलेक्टर के दफ्तर जाना होगा। यहां से फॉर्म हासिल करना और जरूरी जानकारियां दाखिल कर जमा करना होगा।

परमिट के लिए दस्तावेज और फीस Lakshadweep Fees & Documents

12 से 18 साल के लोगों के लिए हेरिटेज फीस 100 रुपये है। जबकि, यही फीस 18 साल से ज्यादा उम्र के लिए लोगों के लिए 200 रुपये है। आमतौर पर परमिट की वैधता 30 दिनों की होती है, लेकिन विशेष स्थिति में इसे बढ़ाया भी जा सकता है। हर आवेदक को परमिट के लिए 50 रुपये चुकाने होंगे।

परमिट के लिए एक पासपोर्ट साइज का फोटोग्राफ, आधार कार्ड, वोटर कार्ड जैसे पहचान पत्र की एक फोटोकॉपी, यात्रा के टिकट दिखाने होंगे। साथ ही पर्यटकों को भी इनके साथ यह भी बताना होगा कि वे किस होटल या रिजॉर्ट में ठहरने वाले हैं।

कैसे पहुंचे लक्षद्वीप? How to Reach Lakshadweep

कोच्चि को लक्षद्वीप का गेटवे माना जाता है। यहां आप शिप और फ्लाइट्स के जरिए पहुंच सकते हैं। कोच्चि से अगति के बीच फ्लाइट्स का सफर करीब डेढ़ घंटे हो सकता है। अगति और बंगारम द्वीपों पर पहुंचने के लिए कोच्चि से फ्लाइट्स लेनी होगी। अगति से कवरत्ती और कदमत के लिए अक्टूबर से मई के बीच नाव उपलब्ध रहती हैं। वहीं, मॉनसून के दौरान अगति से कवरत्ती तक हेलीकॉप्टर से भी जाया जा सकता है।

इनके अलावा एमवी कवरत्ती, एमवी अरेबियन सी, एमवी लक्षद्वीप सी, एमवी लगून, एमवी कोरल्स, एमवी अमीनदिवी और एमवी कॉय नावों के जरिए भी लक्षद्वीप तक पहुंचा जा सकता है। जहाज की यात्रा 14 से 18 घंटे लंबी हो सकती है।