Lifestyle

मूंग दाल खरीदते समय 5 बातों का रखें खास ख्याल, ऐसे करें असली और नकली की पहचान, नहीं होंगे मिलावट का शिकार

[ad_1]

हाइलाइट्स

मूंग दाल को गहरा पीला बनाने के लिए इस पर आर्टिफिशियल कलर कोटिंग की जाती है.
गहरी पीली और छेद वाली मूंग दाल खरीदने से बचना चाहिए.

How to Buy Moong Dal: ज्यादातर लोग डाइट में दाल एड करना नहीं भूलते हैं. वहीं खाने को टेस्टी बनाने के लिए लोग अलग-अलग दालों का सेवन करते हैं. मगर कई लोगों को मूंग दाल (Moong dal) पहचानने और खरीदने में काफी परेशानी होती है. ऐसे में कुछ चीजों को ध्यान में रखकर आप आसानी से मूंग दाल खरीद सकते हैं.

पोषक तत्वों से भरपूर मूंग दाल को सेहत का खजाना माना जाता है. ऐसे में लोग मूंग दाल की खिचड़ी से लेकर मूंग दाल की नमकीन और मूंग दाल की अलग-अलग डिश ट्राई करते हैं. हालांकि मूंग दाल खरीदते समय कुछ बातों को ध्यान में रखकर आप नकली और मिलावटी दाल का सेवन करने से बच सकते हैं.

रंग पर ध्यान दें
कुछ लोग मूंग दाल के रंग को लेकर कन्फ्यूज रहते हैं. ऐसे में ज्यादातर लोग मार्किट में मिलने वाली गहरे पीले रंग की दाल खरीद लेते हैं. मगर वास्तव में मूंग दाल का रंग हल्का पीला होता है. जिसे गहरा पीला बनाने के लिए दाल पर आर्टिफिशियल कलर कोटिंग की जाती है. इसलिए हल्के पीले रंग की मूंग दाल खरीदना बेहतर रहता है.

दाल का आकार देखें
मार्किट में कई तरह की मूंग दाल आसानी से मिल जाती हैं. ऐसे में छिलके वाली मूंग दाल, बिना छिलके वाली मूंग दाल और खड़ी मूंग दाल में लोग अक्सर कन्फ्यूज हो जाते हैं. हालांकि रोजमर्रा की डाइट में खाने के लिए आप छिलके वाली या बिना छिलके वाली मूंग दाल खरीद सकते हैं.

दाल के दाने चेक करें
मूंग दाल खरीदते समय दाल के दाने चेक करना ना भूलें. ऐसे में दाने खराब होने, टूटने या फिर दानों में छेद होने पर समझ जाएं कि दाल खराब है. जिसे खाने से आपको कई नुकसान हो सकते हैं.

खुली दाल खरीदने से बचें
कई दुकानदार कंकड़ पत्थर और प्लास्टिक को कलर करके मूंग दाल में मिक्स कर देते हैं. जिससे आप कई बीमारियों का भी शिकार हो सकते हैं. इसलिए मूंग दाल खरीदते समय खुली दाल खरीदने से बचें और हमेशा पैकेट वाली दाल ही खरीदें.

मिलावट का पता लगाएं
मूंग दाल में मिलावट का पता लगाने के लिए आप पानी का इस्तेमाल कर सकते हैं. ऐसे में दाल को पानी में भिगो दें. कुछ देर बाद दाल का कलर फेड होने पर समझ जाएं कि मूंग दाल में मिलावट की गई है. वहीं असली मूंग दाल का रंग पानी में डालने पर फीका नहीं पड़ता है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Tags: Lifestyle, Tips and Tricks

[ad_2]

Source link