Latest Bihar News

शिक्षकों और विद्यार्थियों की हाजिरी ऑनलाइन दर्ज होगी

तकनीक बिहार शिक्षा परियोजना परिषद ने बनाया मोबाइल एप

पहले शिक्षकों की ऑनलाइन हाजिरी लगेगी

राज्य के सरकारी स्कूलों में अब शिक्षकों और विद्यार्थियों की हाजिरी ऑनलाइन दर्ज होगी। इसके लिए बिहार शिक्षा परियोजना परिषद ने मोबाइल एप तैयार किया है। इसकी शुरुआत 16 जुलाई से पटना जिले में होगी।

गौर हो कि इस मोबाइल एप पर स्कूल, प्राचार्य, शिक्षक और विद्यार्थियों के अलग-अलग मॉडयूल बनाए गए हैं। संबंधित मॉड्यूल के तहत यू-डायस 2021-22 के आधार पर पहले शिक्षक प्रोफाइल से संबंधित सारे आंकड़ों की इंट्री होगी। फिर उनकी आईडी बनाई जाएगी। इसी आईडी से शिक्षक रोजाना अपनी हाजिरी बनाएंगे। इसमें विद्यार्थियों का भी पूरा डेटा होगा। शिक्षक उपस्थिति दर्ज करने के बाद छात्रों की हाजिरी बनाएंगे। इसके लिए कक्षावार शिक्षक की आईडी बनेगी। उसी आईडी से फिर शिक्षक अपनी कक्षा में छात्र-छात्राओं की हाजिरी ऑनलाइन दर्ज करेंगे।

जुलाई से ऑनलाइन हाजिरी बनाने की व्यवस्था पटना से शुरू होगी

यू-डायस कोड से जुड़ेंगे तमाम स्कूल

ई-शिक्षाकोष पोर्टल पर यू-डायस के आंकड़ों के आधार पर स्कूल, प्राचार्य, शिक्षक और छात्र का मॉड्यूल अलग-अलग बनाया गया है। प्राचार्य पोर्टल पर लॉग-इन करेंगे। उनके बाद शिक्षकों की सूची पोर्टल पर आ जाएगी। प्राचार्य सभी शिक्षकों को यूजर आईडी और पासवर्ड देंगे जिससे वे हाजिरी बनाएंगे।

स्कूल परिसर में ही काम करेगा मोबाइल एप

बिहार शिक्षा परियोजना परिषद के अनुसार, शिक्षक कहीं से भी अपनी उपस्थिति दर्ज नहीं कर सकते। स्कूल परिसर में रहने पर ही एप काम करेगा। इसकी जानकारी राज्य के सभी प्राथमिक, मध्य, माध्यमिक और उच्च माध्यमिक स्कूल के प्राचार्यों को दे दी गयी है।

ई-शिक्षाकोष पोर्टल पर शिक्षक मॉड्यूल को अपडेट किया जा रहा है। यह प्रक्रिया 15 जुलाई तक पूरी हो जाएगी। 16 जुलाई से जिले के सभी स्कूलों में शिक्षक ऑनलाइन हाजिरी बनाएंगे। बाद में बच्चों की भी हाजिरी बनेगी।

-अमित कुमार, डीईओ पटना