Health

Honey is Best Fat Burner as per Ayurveda know the right way to have it

[ad_1]

Best Way to Burn Fat at Home: शहद का इस्तेमाल सदियों से अलग-अलग चीजों में किया जा रहा है। कुछ लोग चर्बी घटाने के लिए तो कुछ बढ़ाने के लिए इसका इस्तेमाल करते हैं। मधुमक्खी के छत्ते से निकला फ्रेश शहद शरीर के वजन को बढ़ाता है और हल्का रेचक होता है। वहीं शहद जो पुराना है, फैट के मेटाबॉलिज्म में मदद करता है और कफ को खत्म करता है। आयुर्वेद एक्सपर्ट डॉ दीक्सा भावसार ने अपने इंस्टाग्राम पोस्ट में शहद से जुड़ी बातों के बारे में बताया है और साथ ही इसे बेस्ट फैट बर्नर भी बताया है।  

आयुर्वेद में शहद के फायदे 

1) शहद आंखों और आंखों की रोशनी के लिए बहुत अच्छा होता है।
2) यह प्यास बुझाता है और कफ को घोलता है।
3) यह मूत्र मार्ग के विकारों, दमा, खांसी, दस्त और जी मिचलाना-उल्टी में बहुत मददगार है।
4) यह एक नेचुरल डिटॉक्सिफायर है।
5) यह दिल के लिए अच्छा है, त्वचा में सुधार करता है, और कामोत्तेजक है।
6) गहरे घावों को जल्दी भरने में मदद करता है।
7) स्वस्थ दानेदार टिशू के विकास की शुरुआत करता है।

 

यूं न करें इस्तेमाल

1) शहद को गर्म खाने या पानी के साथ नहीं मिलाना चाहिए।
2) गर्म जगह पर काम करते समय शहद नहीं खाना चाहिए।
3) शहद को कभी भी घी के साथ या गर्म, मसालेदार खाने के साथ नहीं मिलाना चाहिए। 
4) इसके अलावा फर्मेंटेड ड्रिंक्स (जैसे, व्हिस्की, रम, ब्रांडी) या सरसों में इसे नहीं मिलाना चाहिए।

 

कैसे करें इस्तेमाल 

1) मोटापे के लिए इसका इस्तेमाल कर रहे हैं तो एक गिलास कमरे के तापमान के पानी के साथ 1 चम्मच शहद लें।

2) 1 टीस्पून शहद के साथ एक टीस्पून पीएफ हल्दी और 1 काली मिर्च को मिलाकर पीने से खांसी, सर्दी, साइनसाइटिस, इम्युनिटी ठीक करने में मदद मिलेगी।

3) इसके अलावा गर्म पानी में शहद पीने की बड़ी गलती करने से बचें। यह भी पढ़ें: माइग्रेन के दर्द से छुटकारा पाने के लिए आयुर्वेद ने बताई 3 आसान चीजें

[ad_2]

Source link