Health

ayurvedic pain relief oil to get rid of joint pain and swelling in hindi

[ad_1]

आजकल ज्यादातर लोगों के बीच जोड़ों का दर्द और सूजन एक आम समस्या बन गया है। इसके पीछे कहीं न कहीं हमारा खानपान, हमारी खराब दिनचर्या और हमारा अनुशासन का पालन न करना शामिल है। सिर्फ बुजुर्ग ही नहीं, बल्कि युवा भी काफी संख्या में इस बीमारी से ग्रसित हैं। जोड़ों का दर्द एक ऐसी समस्या है जो किसी भी उम्र में आपको परेशान कर सकती है। इस दर्द के कारण पैरों या हाथों को हिलाना भी मुश्किल हो जाता है। हालांकि कई बार यह दर्द असहनीय हो जाता है जो इलाज के बाद भी बंद नहीं होता है। ऐसे में आप भी अगर जोड़ों के दर्द से परेशान रहते हैं तो राहत पाने के लिए इन 5 तेलों से रोजाना करें मालिश। आइए जानते हैं इनके बारे में-  

जैतून का तेल- 
इस तेल से हड्डियों की मालिश करने से ब्लड सर्कुलेशन बढ़ने के साथ मांसपेशियों में ऐंठन, दर्द, तनाव को भी दूर किया जा सकता है। इसके अलावा यह स्किन में ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को भी कम करने में मदद कर सकता है।

अरंडी का तेल
अरंडी के तेल से मालिश करने से जोड़ों का दर्द कम होता है और सूजन की भी परेशानी कम होती है। इस तेल से मालिश करने से शरीर का दर्द धीरे-धीरे गायब हो जाता है।

बादाम का तेल-
हड्डियों की मजबूती के लिए बादाम तेल का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इस तेल में विटामिन ई पाया जाता है, जो अल्ट्रा-वॉयलेट किरणों से स्किन को सुरक्षा प्रदान करता है।

नारियल का तेल-
घुटने के दर्द के इलाज के लिए नारियल का तेल फायदेमंद हो सकता है। इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी और एनाल्जेसिक गुणों के साथ-साथ लॉरिक एसिड का उच्च स्तर होता है। जो आपके घुटने के दर्द को कम कर सकता है। 

तिल का तेल
तिल के तेल में ओमेगा-3 फैटी एसिड, कॉपर, जिंक, कैल्शियम, मैग्नीशियम, प्रोटीन जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं। ऐसे में इस तेल से हड्डियों की मालिश करने से आपकी हड्डियों को  मजबूती मिलती है। नियमित रूप से तिल के तेल का इस्तेमाल करने से आपकी स्किन भी मॉइस्चराइज रहती है। 

यह भी पढ़े – क्या चलते हुये आपको भी एड़ियों में होने लगता है दर्द? जानिए इसके कारण

फिश ऑयल-
हड्डियों और ज्वाइंट्स पेन की समस्याओं को दूर करने के लिए फिश ऑयल यानी मछली का तेल भी एक सप्लीमेंट्स के रूप में यूज किया जा सकता है। यह तेल ओमेगा -3 फैटी एसिड से भरपूर होता है। इस तेल का इस्तेमाल करने से सिर्फ हड्डियां ही मजबूत नहीं बनती बल्कि इम्यूनिटी भी अच्छी हो सकती है।  

सरसों का तेल-
सरसों का तेल हड्डियों की मजबूती के साथ शरीर की सूजन और ज्वाइंट पेन को भी कम करने में मदद करता है। इसके लिए आपको आधी कटोरी तेल को गर्म कर उसमें एक या दो लहसुन की कली डाल दें। अब तेल को ठंडा करें और फिर इस तेल से हाथों और पैरों की जमकर मालिश करें। इससे आपको जोड़ों के दर्द में आराम मिलेगा। हड्डियों की मजबूती के लिए आप इसे भोजन पकाते समय भी इस्तेमाल कर सकती हैं। 

यह भी पढ़ें : डायबिटीज से लेकर तनाव तक, पेन रिलीफ के अलावा और भी हैं एक्यूपंक्चर के लाभ

[ad_2]

Source link