Health

Heart Syndrome: क्या है हॉलीडे हार्ट सिंड्रोम, जानें किन कारणों से बढ़ सकती है ये समस्या और क्या हैं उपचार?

[ad_1]

हाइलाइट्स

अचानक जोर-जोर से दिल धड़कना हार्ट हॉलीडे सिंड्रोम का लक्षण है.
छुट्टियों में ज्यादा खाने पीने से हो सकता है,हॉलीडे हार्ट सिंड्रोम.
अधिक शराब पीने से हार्ट संबंधित परेशानियां हो सकती हैं.

Holiday Heart Syndrome : हॉलीडे हार्ट सिंड्रोम अपने आप में एक खतरनाक समस्या है. जब छुट्टियों के दिनों दौरान दिल के मरीजों की संख्या बढ़ जाती है तब उसको हॉलीडे हार्ट सिंड्रोम कहते हैं. छुट्टियों के दौरान लोगों का खान-पान अनहेल्दी हो जाता है, वो बेहद सुस्त हो जाते हैं, शराब का सेवन बढ़ जाता है और नतीजन हार्ट की समस्याएं होने लगती हैं. शराब, फास्ट फूड और जंक फूड की वजह से इस तरह की समस्याएं बढ़ती हैं.

“हॉलीडे हार्ट सिंड्रोम” शब्द पहली बार मेडिकल लिटरेचर में सन 1978 में आया था. इस दौरान लोगों के दिल की धड़कन एकदम से असामान्य हो जाती है. इसके अलावा धमनियों में प्लाक जमा हो जाता और खून में जहरीले पदार्थों के घुलने के कारण हार्ट संबंधित परेशानियां बढ़ने लगती हैं. आइए जानते हैं, हॉलीडे हार्ट सिंड्रोम के बारे में.

क्या है “हॉलीडे हार्ट सिंड्रोम”
हेल्थ डॉट क्लीवलैंड क्लीनिक डॉट ओआरजी के अनुसार हॉलीडे हार्ट सिंड्रोम दिल की समस्याओं के बारे में इस्तेमाल किया जाने वाला एक टर्म है. जिसमें सारी समस्या फास्ट फूड और शराब के अधिक मात्रा में होने के कारण होती है. छुट्टियों के दौरान बहुत अधिक खाने पीने की वजह से ये हो सकता है, इसे हॉलिडे हार्ट सिंड्रोम कहा जाता है क्योंकि छुट्टियों के दौरान नमकीन, स्नैक्स और शराब के अधिक सेवन की वजह से दिल की बीमारियां हो जाती हैं जिनमें सांस लेने में तकलीफ से लेकर हार्ट के अनियंत्रित रूप से धड़कना तक शामिल होता है.

हॉलीडे हार्ट सिंड्रोम के लक्षण :
1) आपके दिल का अचानक से बहुत तेजी से धड़कने लगना.
2) ऊर्जा की कमी या अत्यधिक थकान महसूस होना.
3) चक्कर आना, सिर में हल्कापन या बेहोशी महसूस होना.
4) सीने में तकलीफ, सीने में दर्द, दबाव या बेचैनी.
5) सांस की तकलीफ होना. सामान्य गतिविधियों के दौरान और आराम करने पर भी सांस लेने में कठिनाई

यह भी पढ़ेंः कोलेस्ट्रॉल लेवल कंट्रोल कर सकता है एल्कोहल ! आप तो नहीं कर रहे यह गलतीहोना.

हॉलीडे हार्ट सिंड्रोम से कैसे करें बचाव :
1) शराब पीने के दौरान संयम रखें, कम पिएं.
2) फास्ट फूड खाते समय सावधान रहें.
3) खाने की मात्रा को कम करें, और उसकी गुणवत्ता का भी ख्याल रखें.
4) मिठाई खाने से बचें, अगर खाना मजबूरी है तो छोटा टुकड़ा खाएं.
5) क्रीम, चीनी या नमक की अधिकता वाली चीजों का ज्यादा सेवन करने से बचें.

यह भी पढ़ेंः डायबिटीज समेत कई बीमारियों की वजह बन सकता है इंसुलिन रेजिस्टेंस

Tags: Health, Lifestyle

[ad_2]

Source link