Health

10-15 मिनट करें, ये एक्सरसाइज! कभी नहीं होगी डायबिटीज़!

इन एक्सरसाइज से Type-2 डायबिटीज़ रोगियों को भी मिलेगी राहत!

नेशनल हेल्थ अथॉरिटी ऑफ इंडिया की रिपोर्ट 2020 के अनुसार प्रत्येक 5 भारतीय में से 1 भारतीय को डायबिटीज़ होता है। इनमें से बहुत से रोगियों को टाइप-2 डायबिटीज़ होता है। भारत में डायबिटीज़ की बीमारी को एक सामान्य बीमारी के तौर पर लिया जाता है। लेकिन डायबिटीज़ की शरीर में जड़े जमाने के बाद रोगी को बहुत  परेशानी होना शुरू हो जाती है। डायबिटीज़ के चलते रोगियों को खान-पान में कमी करनी पड़ती हैं। इसके साथ ही उनके वजन में बढ़ोतरी होना शुरू हो जाती है। साथ ही Heart Attack  का खतरा भी बढ़ जाता है।

आजकल की गलत खान-पान की आदतों, दैनिक दिनचर्या और एक्सरसाइज ना करने के कारण डायबिटीज़ की समस्या आम होती जा रही है। डायबिटीज़ से बचने के लिए बहुत से लोग मेडिसीन का भी सेवन करते हैं। लेकिन दवाइयों से डायबिटीज़ कंट्रोल तो हो जाती है लेकिन इसके शरीर पर बहुत बुरे प्रभाव पड़ते हैं। जैसे शरीर पर लाल चकत्ते होना, हार्ट की बीमारी, वज़न में बढ़ोतरी, आंखों की रोशनी में कमी लेकिन दोस्तों घबराए नहीं! आज हम आपको उन एक्सरसाइज के बारे में बताएंगे। जिन्हें आप दिन में कभी भी 30-40 मिनट करते हैं। तो आपको डायबिटीज़ में राहत मिलनी शुरू हो जाएगी। साथ ही रेगुलर  एक्सरसाइज करने पर डायबिटीज़ की बीमारी को जड़ से भी खत्म कर देंगे। तो चलिए जानते हैं, इन एक्सरसाइज के बारे!

Type-2 डायबिटीज़ एक्सरसाइज

1. साइकिलिंग! Cycling

साइकिल चलाना सबसे आसान एक्सरसाइज है। इस एक्सरसाइज को आप कभी भी ऑफ़िस जाते समय, दोपहर या शाम के वक्त कभी भी 40-50 मिनट कर सकते हैं। साइकिलिंग करने से आपका ब्लड Heart से जल्दी  Pump होकर पैरों से Mind की तरफ जाता है। जिससे डायबिटीज़ का खतरा कम होने के साथ Heart attack का भी खतरा ना के बराबर होता है। साइकिलिंग करने से भोजन का पाचन भी  आसानी से होता है।

2. पैदल चलना/ Walking!

WHO के अनुसार जो लोग पैदल चलना पसंद करते हैं और प्रतिदिन 3 हज़ार से 4 हज़ार कदम पैदल चलते हैं। उन लोगों को डायबिटीज़ ना होने के साथ डायबिटीज़ रोगियों का डायबिटीज़ लेवल भी कम हो जाता है। इसके अलावा पैदल चलने वाले लोगों को घुटनों के दर्द जैसी समस्याओं से भी निजात मिलती है। साथ ही Type-2 डायबिटीज़ और Cancer होने का खतरा भी कम होता है।

3. सुदर्शन क्रिया! Sudarshan Kriya

सुदर्शन क्रिया एक Breathing एक्सरसाइज है। सुदर्शन क्रिया सांस लेते वक्त आने वाले विषैले पदार्थों को शरीर से बाहर करती है। सुदर्शन क्रिया से शरीर में से 90% तक विषैले पदार्थ खत्म हो जाते हैं। सुदर्शन क्रिया करने से डायबिटीज़,डिप्रेशन, Stress, थकान, अनिद्रा, कमज़ोरी आदि रोग दूर हो जाते हैं।आर्ट ऑफ़ लिविंग संस्थान के अनुसार सुदर्शन क्रिया करने से शरीर में से डायबिटीज़ और Heart की बीमारी नष्ट हो जाती है। सुदर्शन क्रिया को आसानी से कभी भी किया जा सकता है।  सुदर्शन क्रिया को रोज़ाना 30 मिनट करने से इसके फायदे आपको जल्द हीं दिखने लगेंगे।

4.धनुरासन! – Dhanurasana

धनुरासन खासकर डायबिटीज़ के मरीज़ों को खासा फायदा पहुँचाता है। धनुरासन करने से अग्नाशय मजबूत होता है। सीने के बल लेटकर शरीर को धनुष के आकार में बनाने के कारण इसका नाम धनुरासन पड़ा है। धनुरासन करने से रीड की हड्डी लचीली होती है। वहीं Type-2 डायबिटीज़ रोगियों के लिए लाभदायक भी है। धनुरासन करने से भोजन की पाचन क्रिया मजबूत होती हैं। इसके साथ ही गुर्दे भी  सुव्यवस्थित रहते हैं।

5.जुंबा – एरोबिक डांस Aerobic Dance!

एरोबिक डांस शरीर का एक पूरा Workout है। एरोबिक डांस को हिंदी में जुंबा भी कहा जाता है। एरोबिक डांस करने वालों के कारण Heart खून को शरीर में तेजी से और जल्दी पंप करता है। जिससे शरीर सुडोल और ताक़तवर बनता है। स्टडीज के अनुसार रेगुलर 10 से 15 मिनट एरोबिक डांस करने वाले व्यक्ति को डायबिटीज़ होने का खतरा 90% तक कम हो जाता है। साथ ही डायबिटीज़ रोगियों को भी 10 से 15 मिनट एरोबिक डांस करने से  डायबिटीज़ में राहत मिलती है। एरोबिक डांस से हृदय की मज़बूती के साथ Cholesterol के level को भी बढ़ाया जा सकता है।