FEATUREDLatest Bihar NewsPolitics

Bihar News बिहार में फिर नीतीश कुमार, 9वीं बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली, सम्राट और विजय सिन्हा डिप्टी सीएम बने

Bihar News बिहार में फिर नीतीश कुमार, 9वीं बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली, सम्राट और विजय सिन्हा डिप्टी सीएम बने बिहार में नीतीश कुमार ने एक बार फिर सीएम पद की शपथ ली है। उनके साथ सम्राट चौधरी और विजय सिन्हा भी डिप्टी सीएम बने हैं।

नीतीश कुमार ने 9वीं बार बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है। पटना स्थित राजभवन में आयोजित समारोह में राज्यपाल राजेंद्र आर्लेकर ने उन्हें पद और गोपनीयता के रूप में शपथ दिलाई। उनके साथ बीजेपी के दो डिप्टी सीएम ने भी शपथ ली है। इसमें सम्राट चौधरी और विजय सिन्हा शामिल हैं। पटना स्थित राजभवन में शपथ ग्रहण समारोह के दौरान जय श्रीराम के नारे भी सुनाई दिए। रविवार को नीतीश के अलावा 8 अन्य नेताओं ने शपथ ली। इनमें जेडीयू और बीजेपी से तीन-तीन, HAM से एक और एक निर्दलीय विधायक शामिल हैं।

राजभवन में शपथ ग्रहण समारोह रविवार शाम पांच बजे शुरू हुआ। राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर ने सबसे पहले नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई। इसके बाद सम्राट चौधरी और विजय सिन्हा ने पद और गोपनीयता की शपथ ली। दोनों को नीतीश के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार में डिप्टी सीएम का पद मिलने जा रहा है।

सम्राट चौधरी बीजेपी के अभी बिहार अध्यक्ष हैं। नीतीश के महागठबंधन में जाने के बाद बीजेपी ने उन्हें प्रदेश की कमान सौंपी थी। पिछले एक साल में वे लगातार नीतीश कुमार के खिलाफ मुखर होकर राजनीति कर रहे थे। अब उन्हें नीतीश के नेतृत्व वाली सरकार में डिप्टी बनाया गया है। वहीं, नेता प्रतिपक्ष और पूर्व में स्पीकर रह चुके विजय सिन्हा को भी डिप्टी सीएम बनाया गया है। वह भी नीतीश के खिलाफ सड़क से लेकर संसद तक मुखर रहे थे। अब वे मुख्यमंत्री के साथ मिलकर काम करेंगे।

विजय चौधरी ने चौथे नंबर पर ली शपथ

चौथे नंबर पर सीएम नीतीश के खास माने जाने वाले जेडीयू नेता विजय चौधरी ने मंत्री पद की शपथ ली। महागठबंधन सरकार में उनके पास वित्त विभाग की जिम्मेदारी थी। बिहार सरकार में वह जेडीयू से नंबर दो के नेता माने जाते हैं।

विजय चौधरी के बाद जेडीयू के वरिष्ठ नेता एवं सुपौल से विधायक बिजेंद्र प्रसाद यादव ने पांचवें नंबर पर शपथ ग्रहण की। इसके बाद बीजेपी नेता प्रेम कुमार को शपथ दिलाई गई। वे पूर्व में भी मंत्री रह चुके हैं।

सातवें नंबर पर जेडीयू विधायक श्रवण कुमार ने मंत्री पद की शपथ ली। वह नीतीश कुमार के गृह जिले नालंदा से आते हैं। उनके बाद पूर्व सीएम जीतनराम मांझी के बेटे एवं हिंदुस्तान आवाम मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष संतोष कुमार सुमन ने शपथ ग्रहण की। मांझी की पार्टी ने नीतीश की नई सरकार को समर्थन दिया है। HAM से बिहार विधानसभा में चार विधायक हैं।

सबसे आखिर में निर्दलीय विधायक सुमित कुमार सिंह ने मंत्री पद की शपथ ग्रहण की। इससे पहले एनडीए और महागठबंधन की सरकारों में भी वह मंत्री रह चुके हैं। सुमित सिंह को भी नीतीश का करीबी माना जाता है।

नीतीश कुमार के नाम रिकॉर्ड कायम

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार 9वीं बार बिहार के सीएम बने हैं। ऐसा करने वाले वह राज्य के पहले नेता हैं। बिहार में ऐसा कोई नेता अब तक नहीं हुआ, जो इतने लंबे समय तक मुख्यमंत्री बना। बीते दो दशक के अंदर बिहार में सत्ताधारी गठबंधन बदलते रहे, लेकिन सत्ता के केंद्र में नीतीश कुमार ही रहे।