AutomobileLatest Bihar News

जानें क्यों बढ़ रहें हैं, Petrol-Diesel के दाम!

भारत में 100 रुपए के पार हुआ पेट्रोल! जबकि पड़ोसी मुल्कों में है, बहुत सस्ता है पेट्रोल!

डीजल और पेट्रोल ( Petrol and Diesel ) की बढ़ती कीमतों ( Price) को देखकर जनता के हालात बहुत बुरे हो रहे हैं। आज  लगातार 11वें दिन भी पेट्रोल के भाव ( Petrol Price ) में तेजी दिखाई दी।  पेट्रोल के भाव में 40 पैसे की बढ़त दर्ज़ हुई है ।भारत में पेट्रोल का आंकड़ा 100 रुपए प्रति लीटर से भी ऊपर जा चुका है। मध्यप्रदेश में पेट्रोल 98.28 रुपए प्रति लीटर से बिक रहा है। जबकि राजस्थान के श्रीगंगानगर में पेट्रोल के भाव 103.59 रुपए है। श्रीगंगानगर के लोग भारत में सबसे ज्यादा पेट्रोल की क़ीमत दे रहे हैं। भारत में औसतन सामान्य व्यक्ति का 18% खर्च पेट्रोल और डीजल पर होता है। बढ़ती पेट्रोल और डीजल की कीमतों से लोगों के खर्चों में बढ़ोतरी हो रही है।साथ ही महँगाई का स्तर भी बढ़ रहा है।

2021 में 23 से ज्यादा बार बढ़ चुके हैं, तेल के दाम!

भारत में 2021 के शुरुआती 2 महीनों में ही पेट्रोल और डीजल के दामों में 23 बार बढ़ोतरी हो चुकी है। इन 23 दिनों में पेट्रोल-डीजल की कीमत 10 रुपए से ज्यादा बढ़ चुकी है। अगर पीछे चल कर देखा जाए तो पिछले 10 महीनों ( 10 Months ) में तेल की कीमतों में 17.50 रुपए का  उछाल आ चुका है। दुनिया भर में कच्चे तेल के भाव कोराना काल से पहले वाले आ चुके हैं। लेकिन भारत में केंद्र सरकार और राज्य सरकारों ने टैक्स वसूल कर पेट्रोल-डीजल के भाव पहले से भी कहीं अधिक कर दिया है। पिछले साल जनवरी की तुलना में इस साल जनवरी में पेट्रोल के भाव 13 फ़ीसदी अधिक वसूले जा रहे हैं।

Why Petrol Price increase in India

इतने क्यों बढ़ रहे है, पेट्रोल-डीजल के दाम!

कोरोना महामारी के कारण देश की अर्थव्यवस्था पटरी पर आ चुकी है। देश में हुए लॉकडाउन के कारण पेट्रोल-डीजल  की खपत बिल्कुल खत्म हो चुकी थी। जब देश में लॉकडाउन खत्म हुआ और ज़िंदगी पटरी पर आनी शुरू हुईं। तब सरकार भी अपनी हालत को सुधारना चाहती हैं। सरकार प्रतिवर्ष डीजल पेट्रोल से 3.34 लाख करोड़ रुपए  कमाती है। जिस कारण सरकार लगातार पेट्रोल-डीजल पर टैक्स लगा रही है। सरकार ने अब तक एक बार भी पेट्रोल-डीजल के टैक्स पर छूट नहीं दी है। जो पेट्रोल-डीजल के दामों के बढ़ने का सबसे बड़ा कारण है। इसके साथ निम्न कारण भी है, जिससे पेट्रोल-डीजल की कीमतों में उछाल आया है:

1 – प्रत्येक राज्य अपने अनुसार पेट्रोल-डीजल पर टैक्स लगाता है। जिसे मूल्य वर्धित कर (वैट) कहा जाता है। जिस कारण भारत के प्रत्येक राज्य में पेट्रोल-डीजल की कीमत अलग-अलग हैं। भारत में सबसे ज्यादा वैट राजस्थान में लगाया जाता है। जिसका राजस्थान में पेट्रोल की कीमत 100 रुपये से ज्यादा है। उसी प्रकार दिल्ली में पेट्रोल पर 20.61 रुपये और डीजल पर 11.68 पर वैट लगाया जाता है.

2 – अंतर्राष्ट्रीय बाजार में  कच्चे तेल की कीमतों में आए उछाल के कारण भी पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ रहे हैं.

3 – केंद्र सरकार और राज्य सरकार के द्वारा पेट्रोल-डीजल की कीमतों पर  टैक्स में कमी नहीं करना.

भारत के पड़ोसी देशों में बहुत सस्ते है! पेट्रोल-डीजल!

आपको जानकर हैरानी होगी! कि भारत के पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में पेट्रोल की कीमत 51.14 भारतीय रुपए है। जो भारत के पेट्रोल के भाव की तुलना में बहुत कम है।साथ ही भारत के अन्य पड़ोसी देश जैसे श्रीलंका में पेट्रोल की कीमत 60.26 रुपए, भूटान में 49.56 रुपए, बांग्लादेश में 76.41 रुपए जबकि नेपाल में पेट्रोल 68.98 रुपए प्रति लीटर है। भारत के पड़ोसी देशों में भूटान में सबसे सस्ता पेट्रोल ( Petrol at Low Price ) मिलता है।

दुनिया ( World ) में सबसे ज्यादा सस्ता पेट्रोल वेनेजुएला में मिलता है, यहां पर पेट्रोल मात्र 1.45 रुपये प्रति लीटर है। जबकि सबसे महंगा पेट्रोल हांगकांग में मिलता है। यहां पर पेट्रोल की कीमत 169.21 रुपये प्रति लीटर है।